मानस

Published by Prem Das Sharma

August 15, 2020

मैं मानस की खोज
करता ही रहा

जो
मुझमें न था
बाहर कैसे मिलता

Recently Published:

नारी

मुझे मेरी उङान ढूँढने दो।
खोई हुई पहचान ढूँढने दो।

read more

0 Comments

%d bloggers like this: